बाबा प्रसाद
 

सुख दु:ख साथि नही है न यह देहभी साथ चलेगी

क्यों अंदर में मचल रहा है सब चीजे छोडनी पडेगी

व्यर्थ मेरा मेरा न करना


 
 
अमृतकुंभ
 
 
 
Dear Baba Devotees, for any further communication, kindly contact us at amrutputra@babavanganiwale.org
प्रिय बाबा भक्ता हो, तुम्ही आमच्याशी पुढील पत्त्यावर संपर्क साधु शकता : amrutputra@babavanganiwale.org